कांग्रेस ने कहा- इंदिरा लेकर आईं थीं हरित क्रांति, आज जन्मदिन पर मोदी सरकार ने कृषि कानून वापस लेकर दी श्रद्धांजलि

कृषि कानूनों (Three Agricultural Laws) को वापस लिए जाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के फैसले से न सिर्फ किसानों में, बल्कि विपक्ष के नेताओं में भी खुशी की लहर है. मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस (Congress) ने कहा कि मोदी सरकार ने इन कृषि कानून को वापस लेकर देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी है.

कांग्रेस नेता पवन बंसल ने कहा, ‘इंदिरा गांधी देश मे हरित क्रांति (Green Revolution) लेकर आई थीं. उनका आज जन्मदिन (Indira Gandhi Birth Anniversary) भी है. जाने-अनजाने में ही सही, मगर मोदी सरकार (Modi Government) ने कृषि कानूनों को वापस लेकर इंदिरा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

‘सरकार को बेबसी में लेना पड़ा ये फैसला’

बंसल ने आगे कहा, ‘सरकार सभी घोषणाएं राजनीतिक संदेश देने के लिए ही करती है. इस आंदोलन में कितने ही लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी. गाड़ी से उनको कुचला गया. अर्थव्यवस्था पर भी भारी असर पड़ा. लेकिन ये सब क्यों किया गया, इसका जवाब सबको आज मिला है. सरकार को बेबसी में ये फैसला लेना पड़ा है.’

भारत की पहली और अब तक की एकमात्र महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 104वीं जयंती है. उन्हें देश की ‘आयरन लेडी’ के रूप में भी जाना जाता है. इंदिरा गांधी का जन्म 19 नवंबर 1917 को प्रयागराज में हुआ था. वह जनवरी 1966 से मार्च 1977 तक प्रधानमंत्री रहीं. इसके बाद 1980 में वह दोबारा प्रधानमंत्री बनीं. 31 अक्टूबर 1984 को उनके अंगरक्षकों द्वारा उनकी हत्या कर दी गई थी.

किसानों को समझाने में नाकाम रही सरकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पिछले करीब एक साल से अधिक समय से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की घोषणा की. प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को गुरु नानक जयंती के अवसर पर राष्ट्र के नाम संबोधन में इस फैसले की घोषणा की. उन्होंने कहा, ‘पांच दशक के अपने सार्वजनिक जीवन में मैंने किसानों की मुश्किलों, चुनौतियों को बहुत करीब से अनुभव किया है.’

पीएम ने कहा कि कृषि बजट में पांच गुना बढ़ोतरी की गई है, हर साल 1.25 लाख करोड़ रुपए से अधिक राशि खर्च की जा रही है. मोदी ने कहा कि उनकी सरकार तीन नए कृषि कानून के फायदों को किसानों के एक वर्ग को समझाने में नाकाम रही। उन्होंने घोषणा की कि इन तीनों कानूनों को निरस्त किया जाएगा और इसके लिए संसद के आगामी सत्र में विधेयक लाया जाएगा

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!