कालीचरण की गिरफ्तारी पर सियासत गरमाई, MP के गृहमंत्री ने जताई आपत्ति तो छत्‍तीसगढ़ CM ने कसा तंज

महात्मा गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी के बाद अब इस मामले पर राजनीति गरमा गई है. कालीचरण की गिरफ्तारी को लेकर छत्‍तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार और मध्‍यप्रदेश की बीजेपी सरकार आमने-सामने आ गए हैं.

महात्मा गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले कालीचरण महाराज (Kalicharan Maharaj) की गिरफ्तारी के बाद अब इस मामले पर राजनीति गरमा गई है. कालीचरण की गिरफ्तारी को लेकर छत्‍तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार और मध्‍यप्रदेश की बीजेपी सरकार आमने-सामने आ गए हैं.कालीचरण की गिरफ्तारी को लेकर मध्‍यप्रदेश सरकार ने आपत्ति जताई है.छत्तीसगढ़ पुलिस की कार्रवाई पर मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सवाल उठाए हैं. उन्‍होंने गिरफ्तारी की कार्रवाई को गलत करार देते हुए संघीय ढांचे के खिलाफ बताया है. वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल ने पुलिस के एक्शन को जायज ठहराया और मध्‍यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा पर तंज कसा.छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मिश्रा के आरोपों का खंडन किया और कहा कि, बाबा की गिरफ्तारी से मिश्रा खुश है या निराश? वे पहले इसका जवाब दें. दरअसल, कालीचरण महाराज को आज सुबह छत्‍तीसगढ़ पुलिस ने मध्‍यप्रदेश के खुजराहो से गिरफ्तार किया है.

एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किया विरोध

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा छतरपुर के खजुराहो में बाबा कालीचरण की गिरफ्तारी पर कहा कि, यह संघीय मर्यादाओं का उल्लंघन है. छत्तीसगढ़ पुलिस को कार्रवाई से पहले सूचना देनी चाहिए थी. छत्तीसगढ़ सरकार चाहती तो बाबा को नोटिस दे सकती थी. वह पुलिस के सामने पेश हो जाते. दूसरे राज्य में जाकर इस तरह की कार्रवाई प्रोटोकॉल का उल्लंघन है. मैंने मध्य प्रदेश के डीजीपी से कहा है कि वह छत्तीसगढ़ के डीजीपी से इस संबंध में बात करें. उन्हें अपनी आपत्ति दर्ज कराएं और साथ ही उनसे इस मामले में स्पष्टीकरण लें.

महात्मा गांधी के बारे में अभद्र टिप्पणी करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई’

उधर, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी पुलिस ने प्रोटोकॉल का पालन किया है. बाबा की गिरफ्तारी के बाद उनके परिवार और वकील को सूचना दे दी गई है. इसमें कुछ भी गलत नहीं है. बाबा को 24 घंटे के भीतर कोर्ट में पेश कर दिया जाएगा. मिश्रा को यह बताना चाहिए कि महात्मा गांधी का अपमान करने वाले की गिरफ्तारी से वह खुश हैं या नहीं?

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, ऐसे महापुरुष (महात्मा गांधी) के बारे में कोई अभद्र टिप्पणी करें तो उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई होगी. छत्तीसगढ़ पुलिस ने यह कार्रवाई की है. उनके(कालीचरण महाराज) परिवारजनों और वकील को सूचित कर दिया है. 24 घंटे के अंदर उन्हें कोर्ट में प्रस्तुत करेंगे.

क्‍या बोले छत्तीसगढ़ के  गृह मंत्री 

कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी पर छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि, एक अपराधी को गिरफ्तार किया गया है, इसलिए उसे (एमपी गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा) इस पर आपत्ति नहीं करनी चाहिए.आमतौर पर पुलिस सूचना देती है लेकिन अपराध कई तरह के होते हैं. कभी दी जाती है तो कभी नहीं.

कांग्रेस विधायक और मध्य प्रदेश के पूर्व जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने छत्तीसगढ़ सरकार को इस गिरफ्तारी पर बधाई दी है. पीसी शर्मा ने कहा कि बीजेपी महात्मा गांधी को ले कर सिर्फ आडंबर करती है.जिसने महात्मा गांधी को अपशब्द कहे उस अपराधी को अगर गिरफ्तार किया जा रहा है तो क्या गलत है.

हिरासत में लिया गया कालीचरण को शरण देने वाला शख्‍स

मध्य प्रदेश पुलिस ने छतरपुर जिले में उस होम-स्टे के मालिक को हिरासत में ले लिया जहां कालीचरण महाराज को रखा गया था.कालीचरण महाराज को छत्तीसगढ़ पुलिस ने आज सुबह खजुराहो से महात्मा गांधी के खिलाफ उनकी कथित अपमानजनक टिप्पणी के लिए गिरफ्तार किया गया है.

धर्मसंसद में महात्मा गांधी पर दिया था विवादित बयान

दरअसल, रायपुर के रावण भाटा मैदान में आयोजित 2 दिवसीय कार्यक्रम के समापन दिवस पर बोलते हुए, कालीचरण ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर विवादित टिप्पणी की थी. इस पर उन्होंने कहा था, “इस्लाम का लक्ष्य राजनीति के माध्यम से राष्ट्र पर कब्जा करना है. हमारी आंखों के सामने उन्होंने 1947 में कब्जा कर लिया था. उन्होंने पहले ईरान, इराक और अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया था. साथ ही राजनीति के माध्यम से बांग्लादेश और पाकिस्तान पर कब्जा कर लिया था… मैं नाथूराम गोडसे को सलाम करता हूं कि उन्होंने मोहनदास करमचंद गांधी की हत्या की.

ये भी पढ़ें- 

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!