क्या टाटा ग्रुप की लीडरशिप में होने जा रहा है ऐतिहासिक बदलाव? जानिए रतन टाटा ने क्या कहा

रतन टाटा ने सीईओ की नियुक्ति वाली रिपोर्ट को खारिज किया है.

टाटा ट्रस्ट के प्रमुख रतन टाटा और टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने उस मीडिया रिपोर्ट को गलत बताया, जिसमें दावा किया गया कि टाटा ग्रुप अपने लीडरशिप में बदलाव करने जा रहा है. टाटा संस में अब CEO की नियुक्ति होगी.

मंगलवार को एक खबर आई जिसमें दावा किया गया था कि टाटा संस के मैनेजमेंट में स्ट्रक्चरल बदलाव होने जा रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, 150 साल का इतिहास बदलते हुए टाटा संस में अब CEO की नियुक्ति की जाएगी. हालांकि, टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन का पद बरकरार रहेगा जिसके पास टाटा संस में 66 फीसदी की हिस्सेदारी है. आज खुद रतन टाटा और टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने इस रिपोर्ट को सिरे से खारिज किया है.

रतन टाटा की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि मैं मीडिया रिपोर्ट से बेहद नाखुश हूं. उन्होंने कहा कि इस तरह की आधार विहीन रिपोर्ट से उस टीम पर असर होता है, जो बड़े आराम से टाटा ग्रुप का कामकाज देख रही है. उनके अलावा टाटा संस के चेयरमैन एन चेंद्रशेखरन ने भी कहा कि 106 अरब डॉलर के समूह की होल्डिंग कंपनी के नेतृत्व में कोई संरचनात्मक बदलाव नहीं होने जा रहा है. चंद्रशेखरन ने एक संक्षिप्त बयान में कहा, “मैं यह बताना चाहूंगा कि नेतृत्व में कोई संरचनात्मक बदलाव नहीं हो रहा है.”

टाटा संस में CEO की नियुक्ति का दावा

यह बयान ब्लूमबर्ग की एक खबर के संबंध में आया है जिसमें कहा गया था कि टाटा संस “कामकाज के संचालन को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए एक मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) का पद गठित कर अपनी नेतृत्व संरचना में ऐतिहासिक बदलाव” पर विचार कर रही है. इसमें कहा गया कि सीईओ का पद चेयरमैन के वर्तमान पद से नीचे होगा और सीईओ “153 साल पुराने टाटा साम्राज्य के विशाल कारोबार का मार्गदर्शन करेगा.”

ऐसी रिपोर्ट से टीम पर होता है असर

चंद्रशेखरन ने कहा कि इस तरह का कोई भी फैसला बोर्ड की नामांकन और पारिश्रमिक समिति द्वारा लिया जाता है. उन्होंने कहा, “ऐसा कोई भी फैसला, अगर जरूरी हो, नामांकन और पारिश्रमिक समिति द्वारा लिया जाता है. हम ऐसी खबरों से बेहद निराश हैं जिनसे नियमित कामकाज में व्यवधान पैदा होता है.”

TCS का मार्केट कैप 200 बिलियन डॉलर पार

इधर आज टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज का मार्केट कैप 200 बिलियन डॉलर के पार हो गया. रिलायंस इंडस्ट्रीड 205 बिलियन डॉलर मार्केट कैप के साथ इस समय सबसे बड़ी लिस्टेड कंपनी है. टीसीएस 50 साल पुरानी कंपनी है जो 2004 में शेयर बाजार में लिस्ट हुई थी. 13.5 सालों के बाद इसका मार्केट कैप 100 बिलियन डॉलर पार किया था. अगला 100 बिलियन डॉलर महज 3.5 सालों में पार कर लिया गया. ग्लोबल आईटी कंपनियों की बात करें तो एसेंचर का मार्केट कैप इससे ज्यादा 216 बिलियन डॉलर है. IBM का मार्केट कैप 122 बिलियन डॉलर और इन्फोसिस का मार्केट कैप 99 बिलियन डॉलर है.

ये भी पढ़ें, 

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!