दिल्ली में शराब प्रेमियों की मुश्किलें बढ़ीं! अंग्रेजी के शौकीन चला रहे देशी से काम; शराब की हो रही काफी किल्लत

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में नई आबकारी नीति (New Excise Policy) ने शराब प्रेमियों की लिए काफी दिक्कतें बढ़ा दी है. जहां सरकारी शराब की दुकान (Liquor Shop) बंद होने से शराब खरीदने के लिए उन्हें इधर-उधर भटकना पड़ रहा है. हालात ये हैं कि 4 से 5 किलोमीटर की दूरी तय कर शराब की दुकान तक पहुंचना पड़ रहा है तो लोग अंग्रेजी शराब न मिलने पर देशी शराब ही खरीद रहे है. इसके साथ ही कालाबाजारी (Black Marketing) भी काफी इजाफा हुआ है. इस दौरान कई युवा बैग में शराब भरकर बंद दुकानों के सामने दिखाई पड़ रहे है तो दोगुनी कीमत पर शराब की बिक्री कर रहे है. सोचने की बात ये है कि शराब नकली है या असली इसकी जानकारी लिए बगैर शराब के शौकीन इसे खरीदने से परहेज नहीं कर रहे.

दरअसल, नई आबकारी नीति लागू हो चुकी है. हालांकि सभी आबंटित लाइसेंस वाली दुकान दूसरे दिन भी नहीं खुली. ऐसे में शराब का स्टॉक कम होने के कारण शराब दुकान पर नहीं पहुंच पा रही है. ऐसी स्थिति में लोगों को 4 से 5 किलोमीटर की दूरी तय कर दुकान पर पहुंचना पड़ रहा है. वहीं, उदाहरण के तौर पर मुखर्जी नगर स्थित बत्रा कॉम्प्लेक्स में आधा दर्जन से अधिक शराब की दुकानें थी. इसी तरह 1 किलोमीटर के रेडियस मेंदर्जनों शराब की प्राइवेट और सरकारी दुकानें थी. लेकिन अब यहां के लोगों को मॉडल टाऊन पहुंचकर शराब खरीदने की मजबूरी है.

राजधानी में हो रही शराब की कालाबाजारी

बता दें कि राजधानी में सरकारी और प्राइवेट शराब की दुकानें बंद तो है, लेकिन ठीक उसके सामने शराब की बिक्री की जा रही है. ऐसे में शाम ढलते है इलाके के कई लोग एक्टिव हो जाते है. इस दौरान वहां से गुजरने वाले को कालाबजारी करने वाले बुलाकर चोरी छुपे शराब उपलब्ध करा रहे है. ऐसे में शराब बिक्री करने वाले अपना मोबाइल नंबर भी बांट रहे है. उनके अनुसारजहां भी जरूरत हो वहां शराब की खेप पहुंचा सकते है. इसी तरह कई झुग्गी कॉलोनी में ही लोगों ने शराब का स्टॉक कर लिया है.। पहले जैसे ड्राई डे के दिनों में ऊंची कीमत पर बिक्री की जाती थी वैसे ही इनदिनों शराब की बिक्री हो रही है.

अंग्रेजी के शौकीन चला रहे देशी से काम

गौरतलब है कि शराब की लत करने वाले शराब की कमी के चलते देशी पीने को तैयार है. वहीं, विदेशी शराब के ठीक बगल में कई जगह देशी शराब की दुकानें भी है. देशी शराब की दुकान खुली होने की वजह से जो अंग्रेजी शराब पीते है वो देशी शराब को खरीद कर सेवन करने में गुरेज नहीं कर रहे है. इस तरह के ठेकों पर भी ऊंची कीमत पर शराब लोगों को मिल रहा है. बीते शुक्रवार को ड्राई डे होने की वजह से गुरुवार को जमकर देशी शराब की बिक्री हुई. उधर रेस्टोरेंट और बार में अचानक से भारी भीड़ बढ़ गई है.

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!