नकली नेता, असली ठगी:खुद को भाजपा नेता बताकर मंत्रालय में नौकरी दिलाने का देता था झांसा, 7 बेरोजगारों से ठगे 31 लाख रुपए; डेढ़ साल बाद गिरफ्तार

बेरोजगारों को ठगने वाले नेताजी!

रायपुर पुलिस ने ठगी के मामले में शुक्रवार रात एक फर्जी नेता को गिरफ्तार किया है। पुलिस को आरोपी मनीष सोनी की अक्टूबर से तलाश थी। कोर्ट में पेशी के बाद आरोपी को जेल भेज दिया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी बेरोजगार युवकों को मंत्रालय में नौकरी दिलाने के नाम पर उनके रुपए ऐंठता था। खुद को भाजपा नेता बताकर अपने जाल में फंसाता था। इसके लिए वह राज्य के कई नेताओं के साथ अपनी फोटो भी दिखाता था।

जानकारी के मुताबिक, अक्टूबर 2020 से पुलिस को मनीष सोनी की तलाश थी। शुक्रवार की रात पुलिस को जानकारी मिली कि मनीष अपने घर वालों से मिलने न्यू शांति नगर के अपने मकान में आया है। टीम ने फौरन दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया। अब तक मनीष रायपुर से बाहर छिपा हुआ था। गोलबाजार थाना प्रभारी केके बाजपेयी ने बताया कि आरोपी ने दो दर्जन से ज्यादा बेरोजगार युवक-युवतियों को सरकारी नौकरी लगाने का झांसा दिया था। किसी को मंत्रालय तो किसी को स्वास्थ्य विभाग में सीधी भर्ती का झांसा देकर रुपए ले रखे थे।

रायपुर के फूलचंद साहू नाम के युवक के अलावा मनीष का शिकार हो चुके 7 लोगों ने गोलबाजार थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। मनीष सोनी को बेरोजगार युवक रितेश ठाकुर ने 2 लाख, अंजली रूपरेला 4.5 लाख, संजय यादव 1.5 लाख, जितेन्द्र कुमार 3 लाख, मोहसीन कुरैशी 2.5 लाख, हेमलता वर्मा 2.5 लाख, विकेश साहू 3 लाख, मनीष वर्मा 2 लाख, अनुभव शर्मा 3 लाख, फुलचंद साहू 3 लाख, रामफेकर 4.5 लाख समेत कुल 31.50 लाख रुपए दिए थे। रुपयों का लेन-देन नवा रायपुर मंत्रालय के पीछे के कैंपस में होता था। वहीं युवकों को बुलाता थ। मनीष दावा करता था कि यहां हर बड़ा अफसर और भाजपा सरकार के मंत्री उसे जानते हैं। सारा काम यहीं से होगा। भरोसे में आकर युवकों ने उसे रुपए दे दिए थे।

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!