पेट में दर्द की शिकायत लेकर अस्पताल में पहुंचा 17 साल का छात्र, X-Ray किया तो उड़ गए डॉक्टर्स के होश; ऑपरेशन कर निकालीं 27 कील

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर (Gwalior) जिले में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. जहां एक छात्र के पेट में कबाड़ का गोदाम बना हुआ था. डॉक्टरों के अनुसार 17 साल के छात्र ने खाने में 3-3 इंच की 27 कील खा लीं. उसे इस घटना का पता तब लगा जब उसे पेट में असहनीय दर्द हुआ. इस दौरान परिवार वाले उसे स्थानीय अस्पताल लेकर पहुंचे. यहां डॉक्टरों ने जब अल्ट्रासाउंड कराया तो वह दंग रह गए. जिसमें मरीज के पेट से काफी मात्रा में कील निकाली गई.

दरअसल, जानकारी के अनुसार, मुरार के आर्यनगर में रहने वाले17 साल का धनंजय कुमार को एक दिन पहले पेट में तेज दर्द हुआ था. कुछ ही देर बाद उसका पेट फूलना शुरू हो गया और उल्टियां होने लगीं. जब दर्द असहनीय हुआ तो परिजन उसे लेकर माहेश्वरी नर्सिंग होम पहुंचे. यहां डॉक्टरों ने दर्द का कारण जानने के लिए अल्ट्रा साउंड कराया तो वह काफी हैरत में पड़ गए. इस दौरान छात्र के पेट में लोहे की कील ही कील नजर आईं. उन्होंने फौरन ऑपरेशन करने का फैसला लिया, क्योंकि थोडी से देर होने पर छात्र की जान को खतरा हो सकता था. ऐसे में हॉस्पिटल के सीनियर सर्जन डॉ. वीरेन्द्र माहेश्वरी, डॉ. श्वेता माहेश्वरी ने रविवार दिन में ऑपरेशन शुरू किया. लगभग ढाई घंटे तक ऑपरेशन चला.

करीब ढाई घंटे चला ऑपरेशन

बता दें कि इस घटना से डॉक्टर काफी हैरान थे कि बच्चा अभी तक जिंदा कैसे हैं. इसे कोई बड़ा नुकसान क्यों नहीं हुआ. वहीं, ढाई घंटे चले ऑपरेशन के बाद छात्र के आमाशय से 25 कील और छोटी आंत से 2 कील निकाली गई हैं. डॉक्टरों के मुताबिक फिलहाल छात्र की हालत खतरे से बाहर है. उन्होंने कहा कि आमाशय (STOMACH) में से 25 कील निकाल लीं, लेकिन दो कीलों ने बहुत परेशान किया. यह छोटी आंत में अंदर चली गई थीं. इस दौरान डॉक्टरों ने आंत में छेद भी कर दिए थेय डॉक्टरों ने यहां से भी कील को निकालकर डेमेज पार्ट को सही किया. इसके बाद सफलता पूर्वक ऑपरेशन को अंजाम दिया. डॉक्टर वीरेन्द्र माहेश्वरी के अनुसार तो छात्र अब सुरक्षित है. उसकी हालत फिलहाल ठीक है. उधर सीनियर डॉक्टरों का कहना है कि उनके लिए यह ऑपरेशन सामान्य नहीं है. ऐसा केस पहली बार ही सामने आया है.

जानिए 27 कीलों का रहस्य अभी भी बरकरार

गौरतलब है कि 17 साल के छात्र 27 कील कैसे खा गया यह रहस्य अभी भी बरकरार है. चूंकि छात्र 10वीं का छात्र और उसकी मानिसक स्थिति भी ठीक है. वहीं, डॉक्टरों का कहना है कि मरीज के परिजनों ने बताया कि रात को खाना खाते समय लाइट चली गई थी, जिसके चलते छात्र गलती से यह कीलें खा गया. फिलहाल यह कीलें कैसे उसने खाईं और क्यों यह बात अभी तक सामने नहीं आई है.

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!