मध्य प्रदेश में शुरू हुआ फूड प्रोसेसिंग प्रोजेक्ट्स, किसानों को होगा फायदा और युवाओं को मिलेगा रोजगार

खाद्य प्रसंस्करण उद्योग राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने इस परियोजना का शुभारंभ किया.

इस परियोजना द्वारा 700 लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा. साथ इस परियोजना के माध्यम से इस इलाके के 1000 किसानों को लाभ मिलेगा.

खाद्य प्रसंस्करण उद्योग राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में स्थापित मेसर्स सहारा फ्रोजन फूड्स परियोजना का रविवार को शुभारंभ किया. इस अवसर पर राज्यमंत्री ने अपने संबोधन में सर्वप्रथम परियोजना के प्रमोटर का अभिनंदन करते हुए कहा कि इस परियोजना द्वारा स्थानीय स्तर पर प्रोसेसिंग से सभी को लाभ मिलेगा और साथ ही यह भी कहा कि मंत्रालय द्वारा स्थानीय किसानों व क्षेत्रीय फसलों को हमेशा प्राथमिकता दी जाती है.

देश की आज़ादी के 75 वर्षों के उपलक्ष्य में भारत सरकार द्वारा मनाए जा रहे ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ की एक कड़ी के रूप में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा 6 सिंतबर 2021 से 12 सिंतबर 2021 तक फूड प्रोसेसिंग सप्ताह मनाया जा रहा है. जिसके तहत मंत्रालय द्वारा कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. फूड प्रोसेसिंग सप्ताह के आखिरी दिन इस यूनिट का मंत्री ने उद्घाटन किया.

मेसर्स सहारा फ्रोज़न फूड्स परियोजना की कुल लागत 21.09 करोड़ रुपए है और मंत्रालय द्वारा 10.00 करोड़ रुपए अनुदान स्वरूप दिए गए हैं.

किसानों को होगा लाभ और युवाओं को मिलेगा रोजगार

इस परियोजना में फलों व सब्जियों के लिए आईक्यूएफ प्री-प्रोसेसिंग लाइन – 4 मीट्रिक टन/घंटा, डीप फ्रीजर/फ्रोजन स्टोर – 4000 मीट्रिक टन, आधुनिक रैकिंग सिस्टम (स्टैकिंग) – 4000 मीट्रिक टन, हाई रीच मैटेरियल हैंडलिंग- 2 यूनिट्स, पैकिंग मशीन, वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, वाटर स्टोरेज टैंक आदि इस परियोजना को और उत्कृष्ट व अत्याधुनिक रूप प्रदान करते है. इस प्रसंस्कऱण इकाई द्वारा फ्रोज़न सब्जियां जैसे मटर, गोभी आदि को मुख्य रूप से तैयार किया जाता है.

इस परियोजना द्वारा 700 लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा. साथ इस परियोजना के माध्यम से इस इलाके के 1000 किसानों को लाभ मिलेगा.

मंत्रालय ने खाद्य प्रसंस्करण उद्योग क्षेत्र में उद्यमियों के सशक्तिकरण के लिए पीएमएफएमई योजना के तहत महाराष्ट्र में स्वयं सहायता समूहों के 1498 सदस्यों के लिए 5.41 करोड़ रुपए सीड कैपिटल के रूप में समुदाय आधारित संगठनों को आज हस्तांतरित किए गए. इसके अतिरिक्त ‘आत्मनिर्भर उद्यम की कहानी’ श्रृंखला में पीएमएफएमई योजना के लाभार्थी व मधुर बेकरी के उद्यमी ‘मोहित किशोर खेदीकर’ की सफलता की कहानी को मंत्रालय के सोशल मीडिया मंचों पर प्रकाशित किया गया.

ये भी पढ़े:

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!