रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बयान पर मुख्यमंत्री भुपेश बघेल का पलटवार “जब सावरकर जेल में थे तो कैसे मिले गांधी से”,

छत्तीसगढ़ सीएम भूपेश बघेल

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh ) ने मंगलवार को हिंदु महासभा के नेता वीर सावरकर (Veer Savarkar) और महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) को लेकर एक बयान दिया, जिस पर अब वे घिर गए हैं. सिंह ने कहा था कि सावरकर को दया याचिका दायर करने के लिए गांधी ने कहा था. जिस पर अब छत्तीसगढ़ के सीएम भुपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने भी प्रतिक्रिया दी है. बघेल ने कहा कि उस समय महात्मा गांधी कहां थे और सावरकर कहां थे? सावरकर जेल में थे. वे कैसे संवाद कर सकते थे?

दरअसल राजनाथ सिंह ने मंगलवार को एक किताब के विमोचन के मौके पर कहा कि वीर सावरकर को दया याचिका दायर करने के लिए गांधी ने कहा था. राजनाथ सिंह ने 1910 के दशक में अंडमान में आजीवन कारावास की सजा काट रहे सावरकर की दया याचिकाओं के बारे में विवाद का उल्लेख करते हुए कहा, ‘यह एक कैदी का अधिकार था. गांधी जी ने उन्हें ऐसा करने के लिए कहा था. राजनाथ सिंह के इस बयान के बाद कई तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

सावरकर जेल में थे तो कैसे मिले गांधी से?

सीएम भुपेश बघेल ने कहा कि उस समय महात्मा गांधी कहां थे और सावरकर कहां थे? सावरकर जेल में थे. वे कैसे संवाद कर सकते थे? उन्होंने जेल से दया याचिका दायर की और अंग्रेजों के साथ रहना जारी रखा. वह 1925 में जेल से बाहर आने के बाद 2 राष्ट्र सिद्धांत की बात करने वाले पहले व्यक्ति थे. राजनाथ सिंह दिल्ली के अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में उदय माहूरकर और चिरायु पंडित की पुस्तक वीर सावरकर: द मैन हू कैन्ड प्रिवेंटेड पार्टिशन- के विमोचन के मौके पर बोल रहे थे, जहां आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने भी सभा को संबोधित किया था.

ये भी पढ़ें:

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!