शादी से एक दिन पहले सवा दो लाख रुपये लेकर फरार हुईं दो लुटेरी दुल्हनें, खुद को गरीब बताकर लड़के के परिवार से ऐंठी थी रकम

मध्य प्रदेश के कटनी में दो दुल्हनें शादी से एक दिन पहले सवा दो लाख रुपये लेकर फरार हो (Katni Brides Run Away With Money) गई. खबर के मुताबिक दोनों लड़कियों ने खुद को गरीब बताकर शादी के खर्च के लिए लड़के के परिवार से 2 लाख 26 हजार रुपये एडवांस में लिए थे. लेकिन शादी से एक दिन पहले ही दोनों लड़कियां फरार (Girls Runaway) हो गईं. लड़के वालों की शिकायत के बाद पुलिस ने दुल्हनों की फर्जी मां, मामा और दो दलालों को गिरफ्तार कर लिया है. एसपी सुनील जैन ने बताया कि फ्रॉड के मामले में कैमोर थाने के बडारी गांव के रहने वाले 76 साल के जगदंबा प्रसाद दीक्षित ने शिकायत दर्ज कराई थी.

पीड़ित ने बताया कि उनके दो बेटे बसंतलाल दीक्षित और राजेश दीक्षित हैं. वह अपने बेटों के लिए लड़कियां देख रहे थे. इसी दौरान सतना के रहने वाले अरुण तिवारी और मनसुख रैकवार ने बताया कि सतना के सिंधी कैंप में रहने वाली बबिता तिवारी की दो बेटियां शादी के लायक हैं. लेकिन पिता न होने की वजह से उनकी आर्थित स्थिति ठीक नहीं है, इसीलिए वह शादी (Satna Marriage) का खर्च नहीं उठा सकती. जगदंबा प्रसाद भी अपने बेटों की शादी के लिए लड़कियां देख रहे थे. जानकारों के बुलाने पर वह 23 अक्टूबर को सतना पहुंचे. इस दौरान उनकी मुलाकात बबिता तिवारी से हुई. इस दौरान वह उनकी दोनों बेटियों से भी मिले.

रकम लेकर फरार हुईं लुटेरी दुल्हनें

पीड़ित ने बताया कि उन्हें अपने बेटों के लिए साधना तिवारी और शिवानी तिवारी पसंद आ गईं. उन्होंने तभी अपने बेटों का रिश्ता उनके साथ तय कर दिया. इस दौरान परिवार ने दोनों लड़कियों के साथ फोटो भी खिंचवाई थी. शादी की तारीख तय करने के लिए जगदंबा ने लड़कियों के परिवार को अपने घर बुलाया था. इस दौरान लड़कियों की मां बबिता तिवारी, उनके मामा केशव प्रसाद और भाई दीपक उनके घर पहुंचे. वहां पर शादी से पहले की रस्में पूरी की गईं. दोनों की तारीख 29 नवंबर को होनी थी.

पीड़ित ने बताया कि अपनी खराब आर्थिक स्थिति का हवाला देकर दुल्हन के परिवार ने उनसे शादी में सहयोग मांगा. जिसके बाद उन्होंने 11 नवंबर को लड़कियों के परिवार को 60 हजार रुपये दिए थे. इसके बाद बबीता ने सतना के बैंक ऑफ बड़ौदा अकाउंट में 50 हजार रुपये जमा कराए. लड़के पक्ष की तरफ से शादी की तैयारियां जोर-शोर से चल रही थीं. उन्होंने शादी के कार्ड भी बंटवा दिए थे. साथ ही कैटरिंग, घोड़ी, बैंड और टैंट की एडवांस बुकिंग के लिए करीब 1 लाख रुपये दे दिए थे.

शादी से एक दिन पहले दूल्हों को दिया धोखा

खबर के मुताबिक शादी से एक दिन पहले लड़कियों की मां ने लड़के के परिवार को फोन कर बताया कि उनके जेठ की मृत्यु हो गई है, इसी वजह से शादी अभी नहीं हो सकेगी. दुख भरी खबर मुनकर लड़के का परिवार दूसरे दिन उनके दुख में शामिल होने सतना पहुंचा. वहां पहुंचकर उन्हें पता चला कि जिस घर में लड़कियां रहती थीं, वह किराए का था. वे सभी घर खाली करके चले गए हैं. जानकारी जुटाने पर पता चला कि वह दीक्षित परिवार से पहले एक और परिवार को भी निशाना बना चुकी हैं.

उमरिया जले के रहने वाले राकेश पाठक और धनवाली के रहने वाले रमाकांत ने बताया कि बबीता ने अपनी बेटी शिवानी की शादी 29 नवंबर को उनके भाई राम किशोर के साथ भी तय की थी. उनसे शादी के नाम पर 86 हजार रुपये नकद और 30 हजार रुपये बैंक अकाउंट में भी लिए थे. जिसके बाद दोनों परिवार को ठगे जाने की बता समझ आई. उन्होंने तुरंत मामले की शिकायत कौमोर पुलिस से की. पुलिस का कहना है कि सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!