सिंहदेव के पक्ष में सोनिया को चिठ्‌ठी:सरगुजा संभाग के कांग्रेस पदाधिकारियों ने लिखा- बृहस्पत सिंह पद के गुरूर में हैं, पार्टी से निष्कासित करने की मांग; विधानसभा में इस विवाद पर होगी चर्चा

कांग्रेस विधायक बृहस्पत सिंह के आरोपों से कांग्रेस में भूचाल मचा हुआ है। राजधानी में रविवार-सोमवार को पूरे दिन हंगामा होता रहा। इस बीच सरगुजा संभाग के कांग्रेस पदाधिकारियों और स्थानीय निकायों के जनप्रतिनिधियों ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के समर्थन में मोर्चा खोल दिया है। इन लोगों ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर बृहस्पत सिंह को पार्टी से निष्कासित करने की मांग की है।

बताया जा रहा है कि सोमवार को दिनभर सरगुजा के कांग्रेस पदाधिकारियों की बैठक चलती रही। इसके बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष को अम्बिकापुर NSUI के जिलाध्यक्ष हिमांशु जायसवाल, युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अजय सिंह, प्रतापपुर ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्ष कुमार सिंहदेव, NSUI के प्रदेश महासचिव आतिफ रजा, सूरजपुर जिला पंचायत के उपाध्यक्ष नरेश राजवाड़े, नगर पंचायत भटगांव के अध्यक्ष सूरज कुमार गुप्ता, सरगुजा युवा कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष विकल झा, सूरजपुर युवा कांग्रेस के अध्यक्ष जफर हैदर, मैनपाट की जनपद अध्यक्ष आशा अटल यादव सहित अन्य लोगों ने पत्र लिखा है।

बृहस्पत सिंह ने पार्टी की गरिमा को धूमिल किया
पत्र में कहा गया है, रामानुजगंज के विधायक बृहस्पत सिंह अपने पद के गुरूर में टीएस सिंहदेव के ऊपर अनर्गल आरोप लगाकर अपमानित करने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है। पार्टी प्रोटोकाॅल के विरुद्ध मीडिया में बयान जारी कर पूरे कांग्रेस परिवार और पार्टी की गरिमा को धूमिल किया जा रहा है। इसकी वजह से हम स्वयं को अपमानित महसूस कर रहे हैं। टीएस सिंहदेव जैसे सहज, सरल और आत्मीय व्यक्तित्व के ऊपर गंभीर आरोप लगाने वाले व्यक्ति के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की मांग करते हैं। ऐसे व्यक्ति को न सिर्फ पार्टी से निष्कासित करना चाहिए, बल्कि उस पर कानूनी कार्रवाई भी होनी चाहिए।

इस मामले में आज जवाब देंगे गृहमंत्री
आज विधानसभा में थोड़ी देर में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू इस मामले में सरकार की ओर से बयान देने वाले हैं। सोमवार को विपक्ष खासकर भाजपा ने बृहस्पत सिंह के आरोपों के हवाले से काफी हंगामा किया था। विपक्षी विधायक इस मामले की जांच विधानसभा की समिति से कराने की मांग कर रहे थे। उन्होंने सरकार पर विधायकों की सुरक्षा नहीं कर पाने का आरोप लगाया था। विधानसभा अध्यक्ष ने इस मामले में सरकार को वक्तव्य देने को कहा है।

क्या है यह पूरा विवाद
रामानुजगंज विधायक बृहस्पत सिंह के काफिले की एक गाड़ी पर शनिवार रात को सरगुजा में पत्थर फेंके गए थे। गाड़ी के ड्राइवर और गार्ड से बदसलूकी हुई। आरोप है कि स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के एक रिश्तेदार ने उनकी गाड़ी ओवरटेक करने के विवाद में ऐसा किया। घटना की जानकारी मिलते ही विधायक थाने पहुंच गए। ड्राइवर की तहरीर पर FIR लिख ली गई। पुलिस ने तीन घंटे के भीतर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। शाम को रायपुर पहुंचे विधायक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगा दिया कि टीएस सिंहदेव ने उन पर यह हमला कराया है। हालांकि, देर रात विधायक दल की बैठक में टीएस सिंहदेव और बृहस्पत सिंह एक साथ नजर आए।

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!