स्मार्ट सिटी की समीक्षा बैठक में भड़के सीएम शिवराज सिंह चौहान, अफसरों को दिए ये जरूरी दिशा-निर्देश

मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह ने आज स्मार्ट सिटी को लेकर अफसरों संग अहम बैठक (CM Shivraj Singh) की. इस दौरान उन्होंने अफसरों पर नाराजगी जताते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी के सभी CCTV बंद पड़े हैं. उन्होंने कहा कि वह खुद जाकर इनका मुआयना करेंगे. सीएम शिवराज सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुरानी सरकारों में लूट मची हुई थी. स्मार्ट सिटी टेंडर भी लूटने के लिए ही निकाले गए थे. उन्होंने अधिकारियों से स्मार्ट सिटी (Smart City) के बारे में जानकारी मांगते हुए कहा कि भले ही इसमें 20 घंटे का समय ही क्यों न लगे, वह इस बारे में पूरी जानकारी लेंगे.

सीएम ने कहा कि स्मार्ट सिटी (CM Shivraj On Smart City) के बचे हुए पैसे को रिव्यू करके जरूरत के आधार पर शहरों में काम फाइनल किया जाए. उन्होंने कहा कि यह जानकर उन्हें बहुत हैरानी हो रही है कि भोपाल में स्मार्ट सिटी के कैमरे बंद पड़े हैं. उन्होंने अफसरों को निर्देश दिया कि आज स्मार्ट सिटी का रिव्यू कर इसके नतीजे उन्हें बताए जाएं. इसके साथ ही उन्होंने आडिट की रिपोर्ट को भी गंभीरता से लेने का निर्देश अफसरों को दिया. उन्होंने कहा कि लापरवाही करने वाले लोगों को तुरंत बदला जाए. साथ ही सीसीटीवी (CCTV) का काम पुलिस को सौंप दिया जाए.

अफसरों पर फूटा सीएम शिवराज सिंह का गुस्सा

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बैठक में अफसरों पर गुस्सा जताते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी के आधार पर अधिकारी अपनी पीठ थपथपाने में जुटे हैं. जब कि स्मार्ट सिटी के सीसीटीवी तक बंद पड़े रहते हैं. बता दें कि सीएम के साथ बैठक में मंत्री भूपेंद्र सिंह, पीएस निकुंज श्रीवास्तव,‌ कलेक्टर मनीष सिंह मनोज गोयल समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे. सीएम शिवराज सिंह ने बैठक में अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि महाकाल मंदिर में चल रहा काम महाशिवरात्रि तक पूरा हो जाना चाहिए. फरवरी और मार्च महीने में मंदिर में एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा.

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि दिसंबर, जनवरी और फरवरी, मतलब तीन महीने तक सभी शहरों के विकास को आगे बढ़ाने के लिए काम करेंगे. इस दौरान वह अलग-अलग शहरों का दौरा भी करेंगे. उन्होंने अफसरों को निर्देश देते हुए कहा कि स्टार्टअप के लिए बनने वाले इन्क्यूबेशन सेंटर अच्छी तरह से संचालित किए जाने चाहिए. सीएम शिवराज ने कहा कि यह इन्क्यूबेशन सेंटर गरीब बच्चों के लिए बहुत जरूरी हैं.

स्मार्ट सिटी पर डिटेल में मांगी  जानकारी

सीएम शिवराज सिंह ने अधिकारियों से कहा कि वह पीपीपी मॉडल पर इसे डिटेल में समझना चाहते हैं. जब तब उन्हें इसकी डिटेल्ड जानकारी नहीं लेते उन्हें चैन नहीं मिलेगा. उन्होंने अफसरों से कहा कि पहले से ही इसमें बहुत गड़बड़ी की गई है. फाइल निकालकर इसकी डिटेल चेक की जाए. उन्होंने कहा कि कामों के लिए उन्हें प्राथमिकता तय करनी होगी कि पहले कौन का काम किया जाना जरूरी है. सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि राज्य में खराब सड़कों को जल्द से जल्द सही कराया जाए.

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!