15 साल की मां ने अपने 40 दिन के बच्चे की रस्सी से गला घोंटकर कर दी हत्या, रेप होने के बाद दिया था बेटे को जन्म

मध्य प्रदेश के दमोह के तेंदूखेड़ा से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक मां ने अपने 40 दिन के बच्चे की रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी है. बच्चे की मां नाबालिग है. हैरानी की बात ये है कि बच्चे की हत्या करने के बाद मां उसे अस्पताल भी ले गई. ताकि किसी को शक ना हो, लेकिन पुलिस को बच्चे की मौत पर शक हुआ. जिसके बाद बच्चे का पोस्टमॉर्टम कराया गया. रिपोर्ट में पता चला कि बच्चे की मौत गला दबाने से हुई है. जिसके बाद पुलिस ने जब सख्ती से मां से पूछताछ की तो मां ने अपना बच्चे की हत्या की बात कबूल कर ली.

जिसके बाद उसे बुधवार को आरोपी नाबालिग मां को बाल सुधार गृह भेज दिया गया है. नाबालिग 15 साल की है. नाबालिग के साथ दुष्कर्म हुआ था. जिसके बाद ही उसने बेटे को जन्म दिया था.

दुष्कर्म का आरोपी भी है नाबालिग

जानकारी के अनुसार, नाबालिग लड़की के साथ 17 साल के किशोर ने रेप किया था. दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं. कुछ साल पहले दोनों एक-दूसरे से प्यार करने लगे. जिसके बाद दोनों की बातचीत बढ़ने लगी. कुछ दिनों में मुलाकात होने लगी. इसी दौरान किशोर ने लकड़ी के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. ये बात तब खुली जब लड़की प्रेग्नेंट हो गई. परिजनों ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज करवा दिया है.

जनवरी में किया था युवती के साथ दुष्कर्म

तेंदूखेड़ा एसडीओपी अशोक चौरसिया के अनुसार, जनवरी 2021 को 15 साल की किशोरी के साथ एक किशोर ने दुष्कर्म किया था. अगस्त में परिजनों को पता चला कि उनकी बेटी गर्भवती हो गई है. इसके बाद पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई. आरोपी को गिरफ्तार कर बाल सुधार गृह भेज दिया गया. तभी 16 अक्टूबर को नाबालिग लड़की ने जिला अस्पताल में एक बेटे को जन्म दिया.

चूंकि युवती की उम्र कम थी तो बच्चे को जन्म देने के बाद उसकी तबीयत ठीक नहीं थी. इसलिए बच्चा और मां 22 दिन तक अस्पताल में ही भर्ती रहे. तबीयत ठीक होने के बाद वह अपने गांव चली गई.

नाबालिग मां को भेजा गया महिला सुधार गृह

10 नवंबर की रात नाबालिग मां अपने शिशु को लेकर तेंदूखेड़ा अस्पताल पहुंची. जब बच्चे का चेकअप किया गया तो पता चला कि बच्चे की मौत हो चुकी है. पुलिस को संदेह हुआ तो पुलिस ने शिशु का पीएम करवाया, जिसके बाद यह पता चला कि शिशु की मौत रस्सी से गला घोंटने के कारण हुई है. जब पुलिस ने नाबालिग से पूछताछ की गई तो मां ने अपने ही बेटे की हत्या करना स्वीकार कर लिया. इसके बाद पुलिस ने धारा 302 के तहत उसके खिलाफ मामला दर्ज किया और उसे किशोर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे महिला सुधार गृह भेज दिया गया है

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!