CGPSC मेंस के अजब-गजब सवाल:मुख्यमंत्री कल आने वाले हैं, इसे छत्तीसगढ़ी में बताओ, पसिया शब्द कैसे बना; पहले दिन 94% ने दी परीक्षा

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (CGPSC) की सोमवार से मेंस 2020 परीक्षा शुरू हुई है। दो पालियों में दो विषयों पर कैंडिडेट ने सवालों के जवाब दिए। पहली पाली सुबह 9 बजे से 12 बजे तक थी, इसमें भाषा का एग्जाम हुआ। इसके बाद दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक निबंध की परीक्षा हुई। लोक सेवा आयोग की तरफ से इस बार अंबिकापुर, रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग भिलाई के अलावा जगदलपुर में एग्जाम सेंटर बनाए हैं। 26 जुलाई से शुरू हुई मेंस की परीक्षा 29 तक चलेगी। बाकी बचे दिनों में अब जनरल स्टडीज के पेपर होंगे।

CGPSC एक्सपर्ट अंकित अग्रवाल ने बताया कि इस बार पेपर में ठीक-ठाक सवाल थे। भाषा का पेपर अच्छा था। निबंध में सरकारी योजनाओं के बारे में पूछा गया था। कोरोना से जुड़े जिस तरह के एनालिटिकल सवालों की उम्मीद हम कर रहे थे उस स्तर के सवाल नहीं पूछे गए, मगर इस पर प्रश्न पत्र में कोरोना भी छाया रहा। परीक्षा में कोविड-19 आपदा में अवसर के सकारात्मक, नकारात्मक पहलू पर निबंध लिखने कहा गया। ऑनलाइन फ्रॉड, विदेशी संस्कृति का भारतीय संस्कृति पर अभिशाप, छत्तीसगढ़ में जंगली हाथी समस्या और समाधान, राजीव गांधी न्याय योजना का स्वरूप और उद्देश्य जैसे टॉपिक पर स्टूडेंट्स को निबंध लिखने को कहा गया।

पसिया (चावल का मांड) से जुड़ा सवाल

छत्तीसगढ़ी भाषा के सेक्शन में कई दिलचस्प सवाल पूछे गए। कैंडीडेट्स से पूछा गया कि पसिया (चावल का पानी जिसे मांड कहते हैं) ये शब्द किस प्रक्रिया से बना है? अनार के लिए छत्तीसगढ़ी में कौन सा शब्द है? मुख्यमंत्री कल आने वाले हैं, इसे छत्तीसगढ़ी में लिखो। जैसे सवालों के अलावा स्थानीय पत्रिकाओं और कला के बारे में सवाल किए गए।

चुने हुए ढाई हजार कैंडिडेट्स ने दी परीक्षा

परीक्षा की पहले शिफ्ट में 2585 और दूसरी पाली में 2565 अभ्यर्थियों ने ऑफलाइन लिखित परीक्षा दी। 2741 उम्मीदवारों को आयोग ने प्रवेश-पत्र जारी किया था। पहले दिन के पहले पेपर में 94.31 और दूसरे पेपर में 93.58 उम्मीदवार उपस्थित रहे। इस बार बिलासपुर में सबसे अधिक 6 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। इन सेंटरों पर सबसे अधिक 1323 उम्मीदवारों ने परीक्षा दी। जगदलपुर के एक परीक्षा केंद्र में 96 उम्मीदवार शामिल हुए। रायपुर में दो सेंटर बनाए गए थे। पहली पाली में 670 और दूसरी में 663 अभ्यर्थी शामिल हुए। इसी तरह दुर्ग के दो सेंटरों में 342 और अंबिकापुर के एक परीक्षा केंद्र में 154 कैंडीडेट शामिल हुए।

डिप्टी कलेक्टर से DSP जैसे पदों पर मिलेगी नौकरी

आयोग इस बार 18 विभिन्न विभागों में भर्ती के लिए इस परीक्षा का आयोजन कर रहा है। इस बार डिप्टी कलेक्टर के लिए 30 पद निकाले गए हैं, लेकिन डीएसपी के लिए सिर्फ 6 पद ही हैं। नायब तहसीलदार के लिए भी 20 पद ही हैं। आबकारी उप-निरीक्षक के 17, अधीनस्थ लेखा सेवा और राज्य वित्त सेवा में लेखा अधिकारी के लिए 15-15 पद निकाले गए हैं। इसके अलावा अन्य विभागों में भी 1 से 5 तक ही पद हैं। कुल 143 पदों के लिए परीक्षा हो रही है।

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!