छत्तीसगढ़ की गीत सोन बनी मिसेज़ इंडिया क्लासिक 2024

देश में फैशन शो आयोजित करने वाली ग्लैमानंद द्वारा जी स्टूडियो जयपुर में मिसेज़ इंडिया क्लासिक 2024 का आयोजन किया गया। इसमें अलग-अलग राज्यों की हज़ारो महिलाओं व युवतियों ने हिस्सा लिया। इसमें छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व भिलाई की फैशन डिजाइनिंग की छात्रा गीत सोन ने किया । इसमें कई राउंड हुई।

इसमें फाइनल राउंड में 20 महिलाएं पहुंची। जिसमें छत्तीसगढ़ की गीत भी शामिल थी। 16 अप्रैल को आयोजित फाइनल राउंड में सभी को पछाड़कर गीत सोन मिसेज इंडिया क्लासिक 2024 की विजेता चुनी गई। उन्हे जूरी ने मिसेज इंडिया क्लासिक के किताब से नवाजा। ग्लैमानंद मिस यूनिवर्स इंडिया, मिसेज यूनिवर्स इंडिया, सुपर मॉडल इंडिया, मिस टीन दिवा जैसे विश्व स्तरीय आयोजन कराने वाली देश की सर्वश्रेष्ठ संस्था है। इसमें शामिल होनी वाली प्रतियोगियों ने 2 माह ऑनलाइन ट्रेनिंग की एवं 10 दिन जयपुर में कठिन प्रशिक्षण प्राप्त किया। ग्रैंड फिनाले में नेशनल कॉस्ट्यूम राउंड में गीत ने एक स्त्री के सक्षम रूप को प्रदर्शित किया। इवनिंग गाउन वॉक और प्रश्न उत्तर राउंड जिसमें गीत से पूछा गया कि “आप जब फेल होते है तब आपके मन में क्या विचार आता है” जिसमें गीत ने जवाब दिया की वो आत्मविश्वास से आगे बढ़ेंगी और अपने सपनों को साकार करेंगी। उनका जवाब जूरी और ऑडियंस को बहुत पसंद आया। अब वह जल्द ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करेगी।

निर्णायक मंडल में श्री निखिल आनंद अध्यक्ष ग्लैमानंद ग्रुप, श्री राजीव के श्रीवास्तव, अर्शिना सुम्बुल मिस ग्रैंड इंडिया 2023, तनिष्का भोंसले मिस इंटरनेशनल इंडिया 2018, सोफिया सिंह मिस एशिया पैसिफिक इंडिया 2024, डॉ. अनीता हाडा कंसल्टिंग एडिटर भारत- 24, कविता चौहान फैशन एडिटर फर्स्ट इंडिया, मिताली दुसाद एडिटर सिटी फर्स्ट थे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. जगदीश चंद्र, निखिल आनंद रहे कार्यक्रम को होस्ट वाची पारख, सिमरन आहूजा ने किया। गीत ने जीत का श्रेय ग्लैमानंद की पूरी टीम की कड़ी मेहनत को दिया। गीत ने साबित किया कि एक गृहिणी यदि चाहे तो कितना बड़ा मुक़ाम भी पा सकती है। गीत के पति पुलिस विभाग में है जिस कारण उन्होंने एक दशक से भी ज्यादा वक्त नक्सल प्रभावित जैसे इलाके में दहशत और हिम्मत के बीच बिताया है। वह नारी शक्ति को आर्थिक, सामाजिक, व्यावसायिक रूप से सक्षम बनाने में विश्वास रखती है और काम करती है ।
गीत को इस प्रतियोगिता में जाने की प्रेरणा अपनी बिटिया अनुष्का सोन से हुई मिली, जो ख़ुद एक मॉडल है और वर्तमान में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही है। बेटा अभय जो के एक यूट्यूबर है। उसकी ज़िद की वजह से उन्होंने इस चैलेंज को स्वीकार किया। उन्हें अपनी सास सेतु रत्नम, पिता बेनी प्रसाद, मां सुषमा, देवर विक्रांत एवं परिवार के सपोर्ट से हिम्मत मिली है। गीत आगे महिलाओं के उत्थान के लिए काम करना चाहती है। उनकी इस सफलता पर उनके परिवार, iNIFD के साथी, रिश्तेदारों में ख़ुशी की लहर व्याप्त है। बड़ी संख्या में लोग उन्हें बधाई दे रहे है।

CG FIRST NEWS
Author: CG FIRST NEWS

CG FIRST NEWS

Leave a Comment

READ MORE

विज्ञापन
Voting Poll
3
Default choosing

Did you like our plugin?

READ MORE

error: Content is protected !!